पति ने ही बेरहमी से की थी अपनी गर्भवती पत्नी की हत्या

जबलपुर- पति ने ही बेरहमी से की थी अपनी गर्भवती पत्नी की हत्या सुपारी देकर दोस्तों के साथ मिलकर दिया था खौफनाक वारदात को अंजाम पति ने हत्याकांड को अंजाम देने के बाद गढ़ी थी पथराव और लूटपाट की झूठी कहानी शनिवार की रात आरोपी पति ने 4 दोस्तों के साथ मिल घोंट दिया था गर्भवती पत्नी का गला गर्भवती महिला की साड़ी से ही आरोपियों ने घोंटा था महिला का गला आरोपी पति ने पुलिस को गुमराह करने खुद पर भी करवाया था हमला माढ़ोताल थाना क्षेत्र में शनिवार देर रात हुई थी सनसनीखेज वारदात पति शुभम चौधरी के किसी और महिला से अवैध संबंधों की जानकारी लगने के बाद आए दिन पति-पत्नी में होते थे विवाद कजरवारा निवासी शुभम चौधरी ससुराल छोड़ने के बहाने अपनी पत्नी रेशमा को ले गया था साथ पति पत्नी के साथ कार में था डेढ़ साल का बेटा आरोपी पति ने 4 दोस्तों से मिलकर कार रुकवाकर किया था हमला हत्या को लूट की वारदात बताने की, की थी कोशिश घायल रेशमा को अस्पताल ले जाने पर डॉक्टर ने किया मृत घोषित

जबलपुर के माढ़ोताल थाना इलाके के भोला नगर में हुई फर्जी लूट और महिला की हत्या के मामले में पुलिस ने हैरतअंगेज खुलासा किया है। इस वारदात का मुख्य सूत्रधार कोई और नहीं बल्कि गर्भवती रेशमा का पति शुभम चौधरी ही था जिसने लूट और हमले की झूठी कहानी गढ़कर पुलिस को गुमराह किया था। शुभम चौधरी और उसके तीन दोस्तों ने मिलकर वारदात को बेहद शातिर तरीके से अंजाम दिया था। पुलिस ने वारदात के 24 घंटे के अंदर इसका खुलासा किया है और हत्या की साजिश रचने वाले पति और हत्या को अंजाम देने वाले उसके दोस्तों को गिरफ्तार कर लिया है। गौरतलब है कि शनिवार की रात करीब 9:00 बजे गोराबाजार थाना इलाके के कजरवारा निवासी शुभम चौधरी और उसकी पत्नी रेशमा चौधरी के साथ लूट एवं मारपीट की वारदात सामने आई थी, जिसमें शुभम ने एफआईआर दर्ज कराई थी कि वह अपने डेढ़ साल के बेटे और पत्नी रेशमा के साथ माढो ताल थाना अंतर्गत मदर टेरेसा स्थित ससुराल जा रहा था, जहां रास्ते में बाइक सवार कुछ लोगों ने उसकी कार पर पत्थर फेंक कर लूट की वारदात को अंजाम दिया और पत्नी की गला घोंटकर हत्या कर दी थी। पुलिस ने जब इस मामले की पड़ताल शुरू की तो शुभम चौधरी के बयानों ने पुलिस को उस पर ही शक करने के लिए मजबूर कर दिया और जब पुलिस ने आसपास के रहवासी इलाकों में रहने वाले लोगों से पूछताछ की तो उन्होंने किसी भी वारदात से इनकार कर दिया। इसके बाद पुलिस ने शुभम को संदेह के आधार पर हिरासत में लेकर सख्ती से पूछताछ की, जिसमें शुभम ने पूरी कहानी बताई तो पुलिस के भी रोंगटे खड़े हो गए। दरअसल शुभम के एक अन्य महिला के साथ अवैध संबंध हैं और इसकी जानकारी उसकी पत्नी रेशमा को भी थी, रेशमा ने करीब 6 महीने पहले दशहरा के समय गोरा बाजार थाने में शुभम के एक महिला से अवैध संबंध होने की शिकायत दर्ज कराई थी, जिसके चलते दोनों में अक्सर विवाद होता था। पुलिस में शिकायत दर्ज करवाने को लेकर शुभम अपनी पत्नी से रंजिश रख रहा था और इसी रंजिश के तहत उसने रेशमा की हत्या करने की प्लानिंग भी कर ली थी, लेकिन उसे सही मौका नहीं मिल रहा था। शनिवार की शाम शुभम ने पत्नी रेशमा को ससुराल छोड़ने के लिए ले जाने की योजना बनाई। इसके साथ ही उसने अपने तीन दोस्तों को भी हत्या करने के लिए राजी कर लिया। इसके लिए शुभम ने अपने दोस्तों को 60000 की सुपारी भी दी थी जिसमें से वह 40000 में दे चुका था। इस पूरे मामले का खुलासा करते हुए जबलपुर के पुलिस अधीक्षक आदित्य प्रताप सिंह ने बताया कि अपने अवैध संबंधों को छुपाने और इसमें अड़चन पैदा कर रही पत्नी को रास्ते से हटाने के लिए ही पति शुभम चौधरी ने खूनी साजिश रची और अपनी ही पत्नी का गला घोंट कर हत्या कर दी और पुलिस को गुमराह करने के लिए हमला, लूटपाट और हत्या की झूठी साजिश रची, पुलिस ने इस मामले में आरोपी पति शुभम चौधरी के अलावा इस वारदात में शामिल तीन अन्य लोगों को गिरफ्तार कर लिया है।
आदित्य प्रताप सिंह, एसपी

Leave a Reply