बीजेपी पार्षद हेमंत गेहलोत ने महिला बीएलओ से अभद्रता करने के साथ ही पुलिस अधिकारी को दे डाली तबादले की धमकी

उज्जैन- उज्जैन बीजेपी पार्षद हेमंत गेहलोत ने महिला बीएलओ से अभद्रता करने के साथ ही पुलिस अधिकारी को दे डाली तबादले की धमकी दी है।

इसका वीडियो भी सामने आया है। विवादस्पद पार्षद हेमंत गेहलोत का लोकसभा चुनाव के दौरान फिर से विवाद सामने आया है। पिपलीनाका क्षेत्र के एक मतदान केंद्र में बीएलओ के बैठने के स्थान को लेकर पार्षद ने बवाल कर महिला बीएलओ से अभद्रता की और धमकाते हुए कहा कि चक…चक… मत कर रे बाई… वरना…। तुझे यहां नहीं बैठने दूंगा। बड़ी आई नियम तोडऩे वाली। इस विवाद के बाद पुलिस ने पार्षद को धक्के मारकर मतदान केंद्र से बाहर कर दिया।

दरअसल पार्षद हेमंत गेहलोत पिपलीनाका क्षेत्र के मतदान केंद्र 12 में बार-बार आना-जाना कर रहे थे। मतदान केंद्र पर निर्वाचन कार्यालय द्वारा तैनात महिला बीएलओ ने आपत्ति लेते हुए इसकी जानकारी अन्य वरिष्ठ अधिकारियों को दी। इसका पता लगते ही पार्षद गेहलोत वहां पहुंचे और महिला बीएलओ के मतदान कक्ष के द्वार पर बैठने को लेकर आपत्ति ली। इसके साथ ही पार्षद ने महिला बीएलओ से अभद्रता भी शुरू कर दी। पार्षद चाहते थे कि महिला बीएलओ मतदान केंद्र के बाहर बैठे। जबकि महिला बीएलओ का कहना था कि वह अपने निर्धारित स्थान पर बैठी हुई हैं।
इस मुद्दे को लेकर बहस शुरू हो गई और पुलिकर्मियों के हस्तक्षेप के बाद पार्षद अनावश्यक शब्दों को उपयोग करते हुए बीएलओ को धमकाने लगे, वहीं उन्होंने अभद्रता के साथ महिला बीएलओ से बात की। मौके पर पहुंचे पुलिस अधिकारियों ने पार्षद को समझाया भी लेकिन वह कोई बात सुनने को तैयार ही नहीं था और बीएलओ के केंद्र से बाहर बैठने के नियम का हवाला देने लगा। पार्षद के स्वर जब और तीखे होने लगे तो पुलिस अधिकारियों ने धक्का देते हुए पार्षद को मतदान केंद्र से बाहर कर दिया और कहा कि नियम की बात करना है तो जिला निर्वाचन अधिकारी को शिकायत करें। यहां किसी तरह का हंगामा किया तो कार्रवाई होगी। इसके बाद पार्षद वहां से छोटा सा मुंह लेकर निकल गए।
विधानसभा चुनाव में भी किया था हंगामा…पार्षद हेमंत गेहलोत का विवादों से नाता है। विधानसभा चुनाव 2023 के दौरान पिपलीनाका क्षेत्र के ही मतदान केंद्र पर गेहलोत ने हंगामा कर दिया था। तब भी अधिकारियों ने कार्रवाई की चेतावनी देकर धक्के मारते हुए गेहलोत को मतदान केंद्र से बाहर निकाल दिया था। बिजली चोरी के एक मामले में जांच करने गए विद्युत कंपनी के अधिकारियों से भी गेहलोत मारपीट कर चुके हैं।

Leave a Reply