अगर आप भी बैंक लॉकर मे रखते है कीमती गहने तो हो जाइये सावधान,बैंक के लॉकर से ज्वेलरी गायब होना बना रहस्य.

शहडोल- बैंक के लॉकर से ज्वेलरी गायब होना बना रहस्य.

 

यूनियन बैंक के लाकर से उवभोक्ता के लाखों के जेवरात हुए गायब, मामले की बैंक प्रबनधन सहित पुलिस से शिकायत, नियमो की अनदेखी करने वाला संदेह के घेरे में बैंक मैनेजर ,मध्य प्रदेश के शहड़ोल जिले के यूनियन बैंक आफ इंडिया बुढार शाखा से हैरान कर देने वाला एक मामला सामने आया है। जंहा बैंक के लॉकर में रखें उपभोक्ता के 20 लाख के अधिक के जेवरात गायब होने का एक मामला सामने आया है । उपभोक्ता के लाकर से ज्वेलरी गायब होने की शिकायत उपभोक्ता ने बैंक प्रबंधन सहित पुलिस में भी दर्ज कराई है। इस पूरे मामले में यूनियन बैंक प्रबंधन की बड़ी लापरवाही सामने आई है। और अब जब मामला तूल पकड़ता देख बैंक के मैनेजर इस जिम्मेदारी से पल्ला झड़ते हुए उपभोक्ता पर ही आरोप लगा रहे है। बैंक के लॉकर से ज्वेलरी गायब होने से परेशान उपभोक्ता मदद की गुहार लगाते हुए जिम्मेदारों पर कबित कार्यवाही की मांग कर रहा है। अगर आप बैंक के लाकर में ज्वेलरी रखते है तो सावधान हो जाइए ,क्योंकि ये खबर आपके लिए बहोत जरूरी हो सकती है। जिले के बुढार थाना क्षेत्र के रहने वाले व्यवसायी दातूमल विशनदासानी का बुढार यूनियन बैंक में बचत खाता है। जिसमे उन्होंने जब से यूनियन बैंक में लाकर की सुविधा शुरू हुई तब अपने लाकर नम्बर 149 में अपने परिवार के जेवरात लेकर में रखे थे, इस दौरान वो आवश्यकता अनुसार लाकर खोलते बंद करते रहे, ,जिसके बाद किन्ही कारणों से उन्होंने लंबे समय से लाकर में रखे ज्वेलरी को न खोला और न ही देखा ,इस दौरान 16 फरवरी को जब वे अपने लॉकर को काफी प्रयासों के बाद भी नही खुला ,जिसकी सूचना बैंक प्रबंधन को दी गई, इस दौरान दूसरे दिन यानी 17 फरवरी को बैंक प्रबंधन द्वारा उक्त लाकर को उपभोक्ता के सामने खुलवाया तो जो नाजरा देखा सभी के होश उड़ गए , लॉकर में रखे सभी जेवरात गायब थे, जिस पर उन्होंने बैंक प्रबंधन से इस संबंध में जानकरी देते हुए लाकर से ज्वेलरी गायब होने की वजह पूछी तो बैंक प्रबंधन ने मामले में अपना पल्ला झाड़ते हुए इस मामले से खुद को अनजान बताते हुए ,इसके लिए उन्हें जिम्मेदार ठहराने लगा, जिससे आहत उपभोक्ता के लाकर से ज्वेलरी गायब होने की शिकायत उपभोक्ता ने बैंक प्रबंधन सहित पुलिस में भी दर्ज कराई है। इस पूरे मामले में यूनियन बैंक प्रबंधन की बड़ी लापरवाही सामने आई है। और अब जब मामला तूल पकड़ता देख बैंक के मैनेजर इस जिम्मेदारी से पल्ला झड़ते हुए उपभोक्ता पर ही आरोप लगा रहे है। बैंक के लॉकर से ज्वेलरी गायब होने से परेशान उपभोक्ता मदद की गुहार लगाते हुए जिम्मेदारों पर कबित कार्यवाही की मांग कर रहा है।
दातूमल विशनदासानी ( पीड़ित बैंक उपभोक्ता ) प्रताप सिह ( यूनियन बैंक आफ इंडिया ब्रांच बुढ़ार मैनेजर )
संजय जैसवाल ( टीआए बुढार )

Leave a Reply