रुझानों में केजरीवाल की पार्टी को बहुमत; आप 52, भाजपा 18 सीटों पर आगे, कांग्रेस लगातार दूसरी बार शून्य पर

नई दिल्ली. दिल्ली विधानसभा चुनाव में वोटों की गिनती जारी है। रुझानों में आम आदमी पार्टी (आप) स्पष्ट बहुमत हासिल करती नजर आ रही है। हालांकि, उसे 10 से ज्यादा सीटों का नुकसान हो रहा है। आप के हिस्से की ये सीटें भाजपा के खाते में जा रही हैं। कांग्रेस की स्थिति ज्यादा नहीं बदली। पिछली बार उसे कोई सीट नहीं मिली थी। इस बार वह 1 सीट पर आगे हैं। 70 विधानसभा सीटों के लिए 8 फरवरी को 62.59% वोट डाले गए थे। दिल्ली में अभी आप की सरकार है। भाजपा 22 साल और कांग्रेस 7 साल से सत्ता से दूर है।

अपडेट़्स…

9:10 AM- आप 52, भाजपा 18 सीटों पर आगे

9:00 AM- आप 51, भाजपा 18 और कांग्रेस 1 पर आगे

8:55 AM- आप से निकाले जाने के बाद भाजपा में आए कपिल मिश्रा मॉडल टाउन सीट से पीछे

8:50 AM- पूर्व प्रधानमंत्रीलाल बहादुर शास्त्री के पोते आदर्श शास्त्री द्वारका सीट से पीछे

8:45 AM- तिमारपुर सीट से आप के दिलीप पांडेय भाजपा के सुरेंद्र पाल सिंह से पीछे हो गए हैं

8:40 AM- आप के राघव चंद्रा राजेंद्र नगर सीट से आगे

8:35 AM- आप से कांग्रेस में आईं अलका लांबा चांदनी चौक से पीछे

8:30 AM- आप 54, भाजपा 15 और कांग्रेस 1 सीट पर आगे

8:24 AM- आप 53, भाजपा 16 और कांग्रेस 1 सीट पर आगे

8:18 AM- आप 53, भाजपा 15 और कांग्रेस 1 सीटों पर आगे

8:15 AM- आप 52, भाजपा 14 और कांग्रेस 1 सीटों पर आगे

8:14 AM- आप 38, भाजपा 13 और कांग्रेस 2 सीटों पर आगे

8:10 AM- आप 21 और भाजपा 9 सीटों पर आगे

8:05 AM- भाजपा और आप 1-1 सीटों पर आगे

8:00 AM- वोटों की गिनती शुरू

आप ने ईवीएम पर सवाल उठाए थे

चुनाव आयोग ने वोटिंग के आंकड़े मतदान के करीब 24 घंटे बाद जारी किए थे। आप ने इस पर हैरानी जताई और कहा कि भीतर ही भीतर खेल चल रहा है। आप ने ईवीएम की सुरक्षा पर भी सवाल उठाए। इसी के चलते उसने हर स्ट्रॉन्ग रूम पर अपने 10-10 कार्यकर्ता तैनात किए थे।

गिनती के लिए तैयारियां

  • वोटों की गिनती से 672 उम्मीदवारों की किस्मत का फैसला हो रहा है, इनमें से 593 पुरुष और 79 महिला प्रत्याशी हैं। 1.46 करोड़ मतदाताओं ने मताधिकार का इस्तेमाल किया।
  • दिल्ली के 11 जिलों की 21 लोकेशन पर वोटों की गिनती की जा रही है।
  • कॉमनवेल्थ गेम्स स्पोर्ट्स कॉम्प्लेक्स, एनएसआईटी द्वारका, मीराबाई इंटस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी, जीबी पंत इंस्टिट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी, सर सीवी रमन आईटीआई, धीरपुर, राजीव गांधी स्टेडियम भी वोटों की गिनती वाली 21 जगहों में शामिल हैं। 33 काउंटिंग ऑब्जर्वर्स हैं।
  • दिल्ली के मुख्य चुनाव अधिकारी रनबीर सिंह ने कहा कि सभी ईवीएम का वोटिंग से पहले ही परीक्षण किया गया था। इनसे छेड़छाड़ संभव नहीं है। आप ने ईवीएम की सुरक्षा पर सवाल उठाया था। पार्टी ने हर स्ट्रॉन्ग रूम पर अपने 10-10 कार्यकर्ता तैनात किए थे।

चुनाव में वोटिंग और ट्रेंड्स

  • दिल्ली विधानसभा चुनाव 2020 में 62.59% वोट डाले गए। यह पिछली बार के मुकाबले करीब 5% कम हैं। 2015 में चुनाव के दौरान 67.5% वोट डाले गए थे।
  • पिछले चुनाव के ट्रेंड बताते हैं कि दिल्ली में जब भी मतदान का प्रतिशत कम रहा, तो सरकार नहीं बदली। 2003 में 53% और 2008 में 58% वोटिंग हुई थी। इन दोनों ही चुनावों में सरकार नहीं बदली थी।
  • 2013 में दिल्ली के लोगों ने उस वक्त तक की सबसे ज्यादा 65.63% वोटिंग की थी। जब नतीजे आए, तो 15 साल से सत्तारूढ़ कांग्रेस की विदाई हो गई। हालांकि, किसी पार्टी को बहुमत नहीं मिला और त्रिशंकु विधानसभा जल्दी ही भंग हो गई।
  • 2015 के चुनाव में अब तक का सबसे ज्यादा 67.12% मतदान हुआ। ऐतिहासिक नतीजों में 70 में से 67 सीटें आम आदमी पार्टी ने जीती थीं। भाजपा को 3 सीटें मिलीं और कांग्रेस अपना खाता तक नहीं खोल पाई।

Leave a Reply