जब धू-धू कर जलने लगी बिहार संपर्क क्रांति की बोगी

दरभंगा। बिहार के दरभंगा रेलवे स्‍टेशन पर उस समय अफरातफरी मच गई, जब बिहार संपर्क क्रांति एक्‍सप्रेस में आग लग गई। खबर मिलते ही रेलवे प्रशासन अलर्ट मोड में आ गया। आग की लपटें देखकर हर कोई स्‍तब्‍ध था। गनीमत थी कि ट्रेन में कोई नहीं था। घटना के कारण का पता लगाया जा रहा है। ट्रेन गुरुवार की सुबह खुलनेवाली थी।

दरभंगा स्टेशन स्थित यार्ड में शंटिंग के दौरान बुधवार की देर शाम बिहार संपर्क क्रांति ट्रेन 12565 में आग लगने से अफरातफरी की स्थिति हो गई। ट्रेन के स्लीपर कोच डब्लयूजीसीएन 05210/सी धू-धूकर राख हो गई। संयोग था कि ट्रेन और आग लगी स्लीपर कोच में एक भी यात्री नहीं थे। अन्यथा बड़ी घटना घट सकती थी।

आग पर काबू पाने के लिए पहले सीस फायर का उपयोग किया गया। लेकिन, आग की लपटें कम नहीं हुई। इसके बाद दरभंगा फायर बिग्रेड की तीन टीमों ने लगभग तीन घंटे के मशक्कत के बाद आग पर काबू पाया। तब तक कोच जलकर पूरी तरह राख हो चुकी थी। स्थानीय रेल कर्मियों की तत्परता से आग लगी कोच के दोनों तरफ की बोगियों को काटकर अलग कर दिया गया, नहीं तो पूरी ट्रेन आग की चपेट में आ जाती।

सूचना पर आरपीएफ इंस्पेक्टर जवाहर लाल, स्टेशन अधीक्षक अशोक कुमार सिंह, माल अधीक्षक तनवीर आलम, सहायक अभियंता दिलीप कुमार आदि मौके पर पहुंचकर आग पर काबू करने में जुट गए। कंट्रोल को घटना से सूचना दी गई। बताया जाता है कि समस्तीपुर रेल मंडल से एडीआरएम सहित कई अधिकारी जांच के लिए रवाना हो चुके हैं। घटना की संयुक्त जांच की जाएगी। दोषी पाए जाने पर कार्रवाई करने की बात की बात भी कही गई है।

इस बाबात स्टेशन अधीक्षक सिंह ने बताया कि घटना में किसी यात्रियों को कोई क्षति नहीं हुई है और न ही उससे परिचालन पर कोई असर पड़ा है। जहां ट्रेन का संटिंग कराया जा रहा था, वह लाइन रैक प्वाइंट का बताया गया है। आग कैसे लगी है यह भी स्पष्ट नहीं हो पाया है।

Leave a Reply