छतरपुर में भीषण अग्निकांड में 6 दुकानें स्वाहा, लाखों का नुकसान

छतरपुर। रामचरित मानस मैदान गल्लामंडी क्षेत्र में फल और सब्जी का थोक कारोबार करने वालों की दुकानों में बीती रात अज्ञात कारणों से भीषण आग लग गई। इसमें 6 दुकानें जल गई हैं और लाखों का नुकसान हुआ है। यह घटना रविवार की रात सवा 9 बजे की है।

यह अग्निकांड दिन के समय होता तो हालात पर काबू पाना आसान नहीं रहता। आग बुझाने पहुंची दमकल वाहनों में नाराज लोगों ने जमकर तोड़फोड़ की और एक टैंकर चालक को पीट दिया। पुलिस ने बड़ी मुश्किल से बिगड़ते हालातों को संभाला और करीब ढाई घंटे बाद आग पर काबू पाया जा सका।

पुरानी गल्लामंडी में रामचरित मानस मैदान के बगल से फल और सब्जी कारोबारियों का थोक व्यवसाय किया जाता है। बीती रात सवा 9 बजे अचानक इन दुकानों में आग धधक उठी। प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार रामचरित मानस मैदान में रविवार की रात एक विवाह कार्यक्रम का आयोजन हो रहा था। बड़ी संख्या में लोग वहां भोज में शामिल थे तभी अचानक आयोजन स्थल के ठीक बगल में फल कारोबारियों की अस्थाई दुकानों के अंदर से धुंआ उठने लगा। पहले लोग समझे किसी ने तापने के लिए सूखी फूस में आग लगाई होगी।

कुछ ही देर बाद जब लपटें दिखाई दी तब माजरा समझ में आया। दुकानों के आसपास बांस की टटियां और अन्य सूखा सामान रखा होने के कारण आग की लपटें तेजी से बढ़ती गई। दस पन्द्रह मिनट के अंदर काफी बड़ा क्षेत्र आग की भीषण लपटों से घिर गया जिससे विवाह कार्यक्रम में भी अफरा तफरी मच गई।

वहीं फल व सब्जी कारोबारी अपने अपने साधनों से आग को बुझाने में जुट गए।इस अग्निकांड में शाकिर राईन, रशीद राईन, नसीम, इमरान, आजा राईन और शुभराती की स्थाई दुकानें आग की भेंट चढ़ गई। इस अग्निकांड में करीब 20 लाख रुपए से अधिक का नुकसान हुआ है। इन दुकानों के अंदर फल और सब्जियां रखीं हुई थीं।