अचेत अवस्था मे मिले VHP अध्यक्ष प्रवीण तोगड़िया

अहमदाबाद : विश्व ङ्क्षहदू परिषद (विहिप) के अंतरराष्ट्रीय कार्यकारी अध्यक्ष प्रवीण तोगडिय़ा के अहमदाबाद के शाही बाग इलाके में बेहोशी की हालत में मिलने के बाद उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया है। तोगडिय़ा का सोमवार सुबह 10.45 बजे से कुछ पता नहीं चल पा रहा था, जिसे लेकर विहिप ने विरोध प्रदर्शन भी किया था

शूगर लेवल कम होने से बिगड़ी तबीयत
अहमदाबाद पुलिस की क्राइम ब्रांच के सूत्रों के मुताबिक हाइपोग्लाइसीमिया (कम शुगर लेवल) की वजह से तोगडिय़ा बेहोश हो गए थे। अचेत अवस्था में मिले विहिप नेता को इलाज के लिए चंद्रमणि अस्पताल में भर्ती कराया गया है। उन्हें ऐंबुलेंस के जरिए अस्पताल लाया गया था।  डॉक्टरों के मुताबिक शुगर का स्तर कम होने की वजह से तोगडिय़ा की तबीयत बिगड़ गई थी।

बेहोशी की हालत में लाया गया अस्पताल
इस बीच उनके अस्पताल में भर्ती होने की खबर मिलने के बाद वहां बड़ी तादाद में विहिप कार्यकर्ता भी इक_ा हो गए हैं। इसे देखते हुए अस्पताल के आस-पास कड़े सुरक्षा इंतजाम किए गए हैं। चंद्रमणि अस्पताल के निदेशक डॉक्टर रूप कुमार अग्रवाल का कहना है कि तोगड़यिा को अस्पताल में अचेत अवस्था में लाया गया था। उनका कहना है, उनकी हालत में सुधार हो रहा है। हालांकि अभी वह कुछ बोलने की स्थिति में नहीं हैं। उनका हृदय रोग का इतिहास रहा है। लिहाजा इको-2डी जांच की गई है। बाकी जरूरी जांचें बाद में की जाएंगी।

इस मसले पर अहमदाबाद पुलिस का कहना है कि तोगडिय़ा आखिरी बार ऑटो रिक्शा में सुबह 10.45 बजे एक दाढ़ी वाले शस के साथ जाते दिखाई दिए थे। इस बीच संगठन के महासचिव चंपत राय ने मीडिया से बातचीत में इस मामले को गंभीर बताते हुए जांच की मांग की है।

तोगडिय़ा को मिली है जेड प्लस सुरक्षा
गौरतलब है कि तोगडिय़ा को जेड प्लस सुरक्षा मिली हुई है। अहमदाबाद के संयुक्त पुलिस कमिश्नर (क्राइम) जेके भट्ट ने पत्रकारों को बताया कि न तो राजस्थान पुलिस और न ही गुजरात पुलिस ने तोगडिय़ा को गिरतार किया है। शहर के पालदी इलाके में स्थित विहिप दतर के सुरक्षाकर्मियों का कहना था कि तोगड़यिा रविवार को रात में एक बजे आखिरी बार देखे गए थे। तोगडिय़ा ने कहा था कि वह दोपहर ढाई बजे तक लौटेंगे। उस वक्त दाढ़ी वाला एक शस उनके साथ मौजूद था। तोगडिय़ा के खिलाफ राजस्थान की गंगापुर शहर अदालत ने 10 साल पुराने मामले में वॉरंट जारी किया था।