SA 286 में आउट भारत के 28 पर 3 विकेट गिरे

केपटाउन। भारत की शुक्रवार को दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ पहले टेस्ट मैच में पहली पारी में शुरुआत खराब रही। भारत ने पहले दिन के खेल की समाप्ति तक पहली पारी में 11 ओवरों में 3 विकेट पर 28 रन बना लिए हैं। चेतेश्वर पुजारा 5 और रोहित शर्मा बगैर खाता खोले क्रीज पर हैं। इससे पहले दक्षिण अफ्रीका की पहली पारी 73.1 ओवरों में 286 रनों पर सिमट गई।

भारत की शुरुआत भी खराब रही जब सलामी बल्लेबाज मुरली विजय 1 रन बनाकर फिलेंडर की गेंद पर गली में डीन एल्गर को कैच थमा बैठे। इसके बाद शिखर धवन (16) ने डेल स्टेन की गेंद पर उन्हें रिटर्न कैच थमा दिया। अभी भारत इन सदमों से उबरा भी नहीं था कि मोर्ने मॉर्केल ने अपनी पहली ही गेंद पर विराट कोहली (5) को विकेटकीपर डी कॉक के हाथों झिलवाकर भारत को करारा झटका दिया। भारत अभी द. अफ्रीका के पहली पारी के स्कोर से 258 रन पीछे हैं जबकि उसके 7 विकेट शेष है।

दक्षिण अफ्रीका के कप्तान फॉफ डु प्ल‍ेसिस ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी का फैसला लिया, जिसे भुवी ने शुरुआती झटकों से गलत साबित किया। भुवी ने डीन एल्गर को मैच की तीसरी ही गेंद पर विकेटकीपर रिद्धिमान साहा के हाथों झिलवाया। अभी मेजबान टीम इस सदमे से उबरी भी नहीं थी कि भुवी ने अपने अगले ओवर में ऐडन मार्करैम (5) को एलबीडब्ल्यू किया। दक्षिण अफ्रीका उस वक्त मुसीबत में आ गया जब भुवी ने इसके बाद उसके प्रमुख बल्लेबाज हाशिम अमला (3) को भी विकेटकीपर साहा के हाथों झिलवाया।

द. अफ्रीका 12 रनों पर 3 विकेट गंवा चुका था। इसके बाद एबी डीविलियर्स और कप्तान फॉफ डु प्लेसिस पारी को संभालने में जुट गए। जसप्रीत बुमराह की गेंद को डीविलियर्स स्टंप्स पर खेल बैठे। यह बुमराह का पहला टेस्ट विकेट है। उन्होंने 84 गेंदों में 11 चौकों की मदद से 65 रन बनाए। उन्होंने फॉफ डु प्लेसिस के साथ चौथे विकेट के लिए 126 रनों की साझेदारी की। इसके बाद प्लेसिस भी ज्यादा देर तक क्रीज पर नहीं टिक पाए। वे 62 रन बनाकर पांड्‍या की गेंद पर विकेटकीपर साहा को कैच थमा बैठे।

डी कॉक 43 रन बनाकर भुवी के शिकार बने, उन्होंने विकेटकीपर साहा को कैच थमाया। यह भुवी का पारी में चौथा शिकार था। इसके बाद केशव महाराज 35 रन बनाकर रन आउट हुए। अब बारी रविचंद्रन अश्विन की थी, जिन्होंने अंतिम दो विकेट लिए। कगिसो रबाडा 26 रन बनाकर अश्विन की गेंद पर विकेटकीपर साहा को कैच दे बैठे। इसके बाद अश्विन ने मोर्ने मॉर्केल को एलबीडब्ल्यू कर मेजबान टीम की पारी को समाप्त किया।

टीम इंडिया इस मैच में तीन तेज गेंदबाजों, एक ऑलराउंडर हार्दिक पांड्‍या और एक स्पिनर रविचंद्रन अश्विन के साथ मैदान में उतर रही है। टीम ने तेज गेंदबाज जसप्रीत बुमराह को डेब्यू का मौका दिया। टीम इंडिया ने दो तेज गेंदबाजों ईशांत शर्मा और उमेश यादव को मौका नहीं दिया। द. अफ्रीका चार तेज गेंदबाजों (कगिसो रबाडा, वर्नोन फिलेंडर, मोर्ने मॉर्केल और डेल स्टेन) तथा एक स्पिनर (केशव महाराज) के साथ मैदान में उतरा।