शिवपुरी जिले में दो कारों की टक्कर में 3 की मौत, दो गंभीर

शिवपुरी। सुभाषपुरा थाना क्षेत्र के एबी रोड फोरलेन हाइवे पर गुरुवार सुबह दो कारों की आमने-सामने भिड़ंत हो गई। टक्कर इतनी जबरदस्त थी कि एक कार में बैठे एयरफोर्स में सार्जेंट के पद पर पदस्थ अजय पांडे व उनकी पत्नी संजू पांडे की मौके पर ही मौत हो गई, जबकि उनकी बेटी अनामिका (16) गंभीर रूप से घायल हो गई।

इधर दूसरी कार के चालक नर्वदेश्वर जैसवार व उसमें सवार साडा के इंजीनियर पीसी बाथम घायल हो गए। घायलों को जिला अस्पताल लाया गया, जहां चालक नर्वदेश्वर की मौत हो गई। हादसे के दौरान निकल रहे मंत्री लाल सिंह आर्य ने घायलों को तत्काल जिला अस्पताल भिजवाया।

अनामिका और पीसी बाथम को गंभीर हालत को देखते हुए ग्वालियर रेफर कर दिया गया। प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक सार्जेंट अजय और नर्वदेश्वर सीट बेल्ट नहीं लगाए थे। बताया जा रहा है कि फोरलेन निर्माण के कारण घटना स्थल क्षेत्र में एक ही लेन पर दोनों ओर का ट्रैफिक चल रहा था और तेज गति के कारण दोनों कारें टकरा गईं।

बेटे को लेने कोटा जा रहा था परिवार

अजय का बेटा मोहित (17) कोटा में इंजीनियरिंग की तैयारी कर रहा था। उसकी कोचिंग खत्म हो चुकी थी इसलिए मोहित को लेने जा रहे थे। गुरुवार सुबह ही सभी ग्वालियर से कोटा के लिए रवाना हुए थे। दुर्घटना के समय अजय खुद गाड़ी चला रहे थे।

31 को होना है रिटायर, ग्वालियर जा रहे थे इंजीनियर

शिवपुरी करौंदी कॉलोनी निवासी इंजीनियर पीसी बाथम पर पिछले कुछ समय से शिवपुरी में नहर मंडल सिंध परियोजना का अतिरिक्त प्रभार भी था। कार्यपालन यंत्री आरएन सिंह ने बताया कि बुधवार को ही श्री बाथम को कार्यमुक्त किया गया था और वे अपनी मूल संस्था आयाकट साडा ग्वालियर में ज्वाइन करने जा रहे थे। श्री बाथम इसी महीने की 31 तारीख को सेवानिवृत्त हो रहे हैं।

मृतक चालक की बेटी का गंभीर आरोप,

अस्पताल में चालक नर्वदेश्वर की मौत के बाद उनकी बेटी पूजा ने आरोप लगाया कि उसके पिता की मूल पदस्थापना सिंध मड़ीखेड़ा परियोजना में है। जिस इंजीनियर को वह छोड़ने जा रहे थे, उनकी शाखा में अलग चालक पदस्थ है। बावजूद इसके अधिकारियों ने नियम विरुद्ध तरीके से दबाव डालकर उन्हें ग्वालियर भेजा।