LIVE:शिवराज के 3 मंत्री इमरती, दंडोतिया और कंषाना हारे; सिंधिया बोले- मैं नहीं कमलनाथ-दिग्विजय गद्दार

मध्यप्रदेश की 28 सीटों पर हुए उपचुनाव में शिवराज-सिंधिया की जोड़ी चली है। अब तक 21 सीटों के नतीजे आ गए हैं। इनमें 16 पर भाजपा और 6 पर कांग्रेस जीत चुकी है। भाजपा 3 और कांग्रेस 3 सीटों पर आगे चल रही है। 2018 में हुए विधानसभा चुनावों में इनमें से 27 सीट पर कांग्रेस का कब्जा था।

2 पूर्व मंत्रियों समेत शिवराज सरकार के 14 मंत्री चुनाव मैदान में उतरे थे। इनमें से 11 मंत्री जीत चुके हैं या जीत के करीब है। उधर, डबरा, दिमनी और सुमावली सीट में बड़ा उलटफेर हो गया है। डबरा से मंत्री इमरती देवी, सुमावली से एंदल सिंह कंषाना और दिमनी से गिर्राज दंडोतिया चुनाव हार गए हैं।

सिंधिया गुट की इमरती देवी चुनाव हार गईं। हार के बाद वह समर्थक के गले लगकर रो पड़ी। वह तीन बार विधायक रहीं हैं।
सिंधिया गुट की इमरती देवी चुनाव हार गईं। हार के बाद वह समर्थक के गले लगकर रो पड़ी। वह तीन बार विधायक रहीं हैं।

कमलनाथ ने हार स्वीकारी, कहा-जनादेश शिरोधार्य
उपचुनाव के नतीजों पर कमलनाथ ने कहा- हम जनादेश को शिरोधार्य करते हैं। हमने जनता तक अपनी बात पहुंचाने की पूरी कोशिश की। हम विपक्ष में रहकर अपनी जिम्मेदारियों को निभाएंगे। जनता के हित के लिए हमेशा खड़े रहेंगे। उधर, मुख्यमंत्री शिवराज ने ट्वीट कर कहा-मैं सभी जीते हुए प्रत्याशियों को शुभकामनाएं देता हूं। आप सभी समाज की अंतिम पंक्ति में खड़े अंतिम व्यक्ति तक सरकार की योजनाओं का लाभ पहुंचाने के लिए कमर कस लें। जो सफल नहीं हो पाए, वे हताश न हों, जनता के हित के लिए आपका संघर्ष जारी रहे!

जीत का जोश: ग्वालियर सीट पर मंत्री प्रद्यु्म्न सिंह तोमर ने जीत दर्ज की।
जीत का जोश: ग्वालियर सीट पर मंत्री प्रद्यु्म्न सिंह तोमर ने जीत दर्ज की।

कमलनाथ और दिग्विजय गद्दार: ज्योतिरादित्य
ज्योतिरादित्य सिंधिया ने उपचुनाव के रिजल्ट के बाद एक बार फिर कमलनाथ और दिग्विजय पर निशाना साधा। उन्होंने कहा- नतीजों ने साबित किया है कि गद्दार कमलनाथ और दिग्विजय सिंह हैं। उन्होंने समर्थन के लिए मध्य प्रदेश की जनता को शुक्रिया अदा किया। दरअसल, भाजपा में शामिल होने के बाद लगातार कांग्रेस नेता उन्हें गद्दार कहते थे।

भाजपा की सबसे छोटी और बड़ी जीत
भांडेर सीट पर भाजपा की रक्षा संतराम सिरोनिया ने सबसे छोटी जीत दर्ज की। रक्षा ने महज 161 वोटों से कांग्रेस के फूलसिंह बरैया को हराया है। वहीं, सांची में भाजपा प्रत्याशी और मंत्री प्रभुराम चौधरी ने सबसे बड़ी जीत दर्ज की है। प्रभुराम को 1 लाख 15 हजार 511 वोट मिले। उन्होंने 63 हजार 809 वोटों के अंतर से कांग्रेस के मदन लाल चौधरी को हराया है। सांवेर से पूर्व मंत्री तुलसीराम सिलावट की जीत लगभग तय है। वह करीब 30 हजार वोट से कांग्रेस के प्रेमचंद्र गुड्‌डू से आगे हैं। वहीं, सागर जिले के सुरखी से पूर्व मंत्री और भाजपा प्रत्याशी गोविंद सिंह राजपूत करीब 41 हजार वोट से आगे हैं।

14 सीटें, जहां मंत्री मैदान में:

सीट किसके बीच मुकाबला कौन आगे-कौन जीता
सांवेर तुलसीराम सिलावट (भाजपा) और प्रेमचंद्र गुड्‌डू (कांग्रेस) तुलसीराम सिलावट आगे
सुरखी गोविंद सिंह राजपूत (भाजपा) और पारुल साहू (कांग्रेस) गोविंद सिंह राजपूत जीते
ग्वालियर प्रद्यु्म्न सिंह तोमर (भाजपा) और सुनील शर्मा (कांग्रेस) प्रद्यु्म्न सिंह तोमर जीते
डबरा इमरती देवी (भाजपा) और सुरेश राजे (कांग्रेस) सुरेश राजे जीते
बमोरी महेंद्र सिंह सिसौदिया (भाजपा) और कन्हैया लाल (कांग्रेस) महेंद्र सिंह सिसौदिया जीते
सुमावली एंदल सिंह कंषाना (भाजपा) और अजब सिंह कुशवाह (कांग्रेस) अजब सिंह कुशवाह जीते
दिमनी गिर्राज दंडोतिया (भाजपा) और रविंद्र सिंह तोमर (कांग्रेस) रविंद्र सिंह तोमर जीते
बदनावर राजवर्धन सिंह (भाजपा) और कमल पटेल (कांग्रेस) राजवर्धन सिंह जीते
सांची प्रभुराम चौधरी (भाजपा) और मदन लाल चौधरी (कांग्रेस) प्रभुराम चौधरी जीते
पोहरी सुरेश धाकड़ (भाजपा) और हरिवल्लभ शुक्ला (कांग्रेस) सुरेश धाकड़ जीते
अनूपपुर बिसाहूलाल सिंह (भाजपा) और विश्वनाथ सिंह कुंजाम (कांग्रेस) बिसाहूलाल जीते
सुवासरा हरदीप सिंह डंग (भाजपा) और राकेश पाटीदार (कांग्रेस) हरदीप सिंह डंग जीते
मुंगावली बृजेंद्र सिंह यादव (भाजपा) और कन्हाई राम लोधी (कांग्रेस) बृजेंद्र सिंह यादव जीते
मेहगांव ओपीएस भदौरिया (भाजपा) और हेमंत कटारे (कांग्रेस) ओपीएस भदौरिया जीते

अन्य सीटों के अपडेट्स:

Leave a Reply