रेत के अवैध कारोबार में शिवपुरी कलेक्टर का नाम भी चर्चाओं में

भोपाल। 12 सितम्बर को खनिज विभाग का पोर्टल बंद हो गया था। इसके बाद ईटीपी जारी नहीं की जा सकती थी लेकिन होशंगाबाद में 12 सितम्बर की रात ईटीपी जारी की गईं। इसे लेकर होशंगाबाद कलेक्टर शीलेन्द्र सिंह जांच की जद में हैं। इसी बीच खबर आ रही है कि शिवपुरी में तो 13 सितम्बर को ईटीपी जारी की गईं। वहां कोई विवाद नहीं हुआ इसलिए मामला सुर्खियों में नहीं आ पाया लेकिन अब राजधानी में सवाल उठने लगे हैंं यदि होशंगाबाद कलेक्टर के खिलाफ कार्रवाई होती है तो शिवपुरी कलेक्टर श्रीमती अनुग्रह पी के खिलाफ भी होनी चाहिए। 


सीएस के लाैटने पर फैसला

खनिज पोर्टल बंद होने के बाद भी ईटीपी जारी की गईं। यह अधिकार कलेक्टर के पास होता है। होशंगाबाद और शिवपुरी के अलावा कुछ और जिलों से भी इसी तरह की जानकारी आ रही है। होशंगाबाद कमिश्नर रवींद्र कुमार मिश्रा की जांच रिपोर्ट मुख्य सचिव एसआर मोहंती और सामान्य प्रशासन विभाग की प्रमुख सचिव दीप्ति गौड़ मुखर्जी के पास पहुंच चुकी है। जांच में अफसरों की गलती सामने आई है। सीएस के दिल्ली से लौटने पर कार्रवाई पर फैसला होगा। माना जा रहा है कि इसी दिन बाकी जिलों का भी फैसला होगा। 

मंत्री बोले- कार्रवाई जरूर होगी

पर्यावरण मंत्री सज्जन सिंह वर्मा ने कहा, ई-पोर्टल बंद होना था। किन जिलों ने इसका उल्लंघन किया है, इसकी 3 दिन में रिपोर्ट मांगी है, ताकि प्रकरण दर्ज कराया जाए। वहीं खनिज मंत्री प्रदीप जायसवाल ने कहा कि होशंगाबाद कलेक्टर ने बिना पीसीबी की मंजूरी के ईटीपी जारी की है तो निश्चित कार्रवाई होगी। 

Leave a Reply