प्रदेश में ओखी चक्रवात का असर, बारिश की वजह से बढ़ी ठंड

ग्वालियर। सोमवार देर रात से शुरू हुई बूंदाबांदी के बाद प्रदेश के कई हिस्सों में मंगलवार सुबह का नजारा बदला हुआ था। कई शहरों-कस्बों के आसमान पर बादलों के कब्जे के चलते सूरज के दर्शन नहीं हो पा रहे थे तो कहीं बूंदाबांदी लोगों को भिगो रही थी।

यह बदलाव दक्षिण भारत व महाराष्ट्र में आए ओखी चक्रवात व दिल्ली में बने निम्नदाब के क्षेत्र की वजह से आया है। ग्वालियर के मौसम वैज्ञानिक सुनील गोधा के अनुसार अगले 48 घंटे में सिस्टम कमजोर पड़ जाएगा। हल्की बूंदाबांदी की संभावना है। आसमान साफ होने के बाद कोहरा दस्तक देगा।

जानकारों के मुताबिक ठंड नहीं पड़ने की वजह से रबी व सब्जी की फसल पर विपरीत असर पड़ रहा था, लेकिन अब फसलों को फायदा होगा। वहीं बादलों भरा मौसम ऐसा ही बना रहा तो अफीम की फसल को नुकसान होने की आशंका है।

जिलों का हाल

झाबुआ: जिले के कुछ क्षेत्रों में थोड़ी देर तेज बारिश हुई। झकनावदा में ईंट भट्टे गल गए।

आलीराजपुर: हल्की बूंदाबांदी हुई।

नीमच: सोमवार रात से जारी रिमझिम का दौर मंगलवार को भी बना रहा। न्यूनतम तापमान 14 डिग्री रहा।

धार: राजगढ़ मंडी में खुले में पड़ी सोयाबीन बूंदाबांदी से हल्की भीग गई।

खंडवा: दिनभर बादल छाए रहे। ओंकारेश्वर में शाम को बूंदाबांदी हुई।

बुरहानपुर: कोहरे के चलते कई ट्रेनें देरी से पहुंची।

खरगोन: जिले के कई क्षेत्रों में बारिश हुई।

बड़वानी: पहले बूंदाबांदी और फिर रिमझिम बारिश से मौसम सर्द हो गया।

मंदसौर: सोमवार रात से शुरू हुई रिमझिम मंगलवार को भी जारी रही।

शाजापुर: दिन के पारे में 4.5 डिग्री तक की गिरावट आई।

आगर: कुछ स्थानों पर हल्की बारिश हुई। मंगलवार को दिनभर मौसम सर्द रहा।

इंदौर: तेज रफ्तार सर्द हवा और बूंदाबांदी ने शहर को हिल स्टेशन में तब्दील कर दिया। दिन का पारा 4 डिग्री लुढ़ककर 22.7 डिग्री सेल्सियस तक पहुंच गया।

रतलाम: जिले में मावठे और कोहरे के कारण रेल और सड़क यातायात पर असर पड़ा है।

उज्जैन: जिले में दिनभर हल्की बारिश होती रही। देर रात तक सर्द हवा से लोग ठिठुरे। दिन का तापमान 6 डिग्री लुढ़का।

देवास: जिले में मंगलवार दिनभर बादल छाए रहे, वहीं दोपहर 3.45 बजे घना अंधेरा छा गया और हल्की बारिश शुरू हो गई। शाम तक बूंदाबांदी का क्रम चलता रहा।

ग्वालियर: मंगलवार को बूंदाबांदी से अधिकतम तापमान में 5.2 डिग्री सेल्सियस की गिरावट आ गई।