शिवपुरी में व्यापारी की कार ने उगले 12 लाख, पुलिस ढूंढ रही चुनाव कनेक्शन

शिवपुरी। बदरवास थाना पुलिस ने मंगलवार की सुबह मुखबिर की सूचना पर एक कार को रोककर जब उसकी तलाशी ली तो उसमें से 12 लाख रुपए नकद मिले। पुलिस ने कार को अटलपुर के समीप रोका और कार की तलाशी ली तो कार में रखे एक बैग में से 12 लाख रुपए निकले।

इस पर व्यापारी से पूछताछ की गई। उसका कहना है कि इन पैसों से वह कपड़ा खरीदने जा रहा था। यह बात पुलिस को समझ नहीं आई और उन्होंने रुपए जब्त कर व्यापारी के खिलाफ केस दर्ज कर लिया है। गुना के जगदीश कॉलोनी निवासी कपड़ा व्यापारी संजीव पुत्र गिरनारीलाल जैन अपनी पत्नी के साथ कार क्रमांक एमपी 19 एमजे 7777 से ग्वालियर जा रहे थे।

मुखबिर ने एसपी को सूचना दी। इसके बाद एसपी ने वाहन चेकिंग के निर्देश बदरवास थाना पुलिस को दिए थे। पुलिस ने अटलपुर पर चेकिंग प्वाइंट लगाया और कार को रोककर चेक किया तो कार में एक बैग में रखे 12 लाख रुपए नकद मिले।

2-2 हजार के थे नोट

पुलिस ने चेकिंग के दौरान जो 12 लाख रुपए बरामद किए थे। उनमें सभी नोट दो दो हजार रुपए के थे। व्यापारी संजीव जैन का कहना है कि वह कपड़े का व्यापार करता है। उसे कपड़े खरीदने थे और कुछ व्यापारियों को भुगतान करना था, इसलिए वह इतनी बड़ी रकम लेकर ग्वालियर जा रहा था। उनसे पूछा गया कि कहीं यह पैसा वह कोलारस उप चुनाव में बांटने के लिए तो नहीं ले जा रहे थे, इस पर व्यापारी ने साफ इनकार किया।

आचार संहिता के चलते 50 हजार से अधिक की राशि नहीं रख सकते

जिले में आचार संहिता लागू है। ऐसे में कोई भी व्यक्ति 50 हजार रुपए से अधिक की नकद राशि अपने साथ नहीं ले जा सकता है।

पहले भी पकड़ी जा चुकी है राशि

कोलारस उप चुनाव के चलते सीमावर्ती थानों पर पुलिस वाहनों की चेकिंग कर रही है। वाहन चेकिंग के दौरान बसपा के पूर्व जिलाध्यक्ष द्वारिका धाकड़ से बदरवास पुलिस ने 5 लाख रुपए पकड़े थे, जबकि इंदार थाना पुलिस ने वाहन चेकिंग के दौरान झांसी तिराहे के एक व्यापारी से 3 लाख रुपए बरामद किए थे।

भाजपा प्रत्याशी से संबंध तलाशने में जुटी पुलिस

व्यापारी संजीव जैन के संबंध भाजपा प्रत्याशी देवेन्द्र जैन से तो नहीं हैं। कहीं यह पैसा कोलारस उप चुनाव में बंटने के लिए तो नहीं जा रहा था। इसे देखते हुए पुलिस व्यपारी के भाजपा प्रत्याशी से संबंधों की पड़ताल कर रही है। टीआई सुनील शर्मा का कहना है कि हर पहलू पर जांच की जा रही है।