राहुल की कुंडली मजबूत, 2022 तक वापसी कर स्थापित करेंगे सरकार

नई दिल्ली। कांग्रेस अध्यक्ष के रूप में राहुल गांधी ने 16 दिसम्बर 2017 को सुबह 11.07 बजे अपना चार्ज संभाला था। उनकी कांग्रेस अध्यक्ष के रूप में शपथ कुंडली मजबूत बनी है जिसे देखते हुए ज्योतिषियों ने कहा है कि राहुल भविष्य में सियासी क्षेत्र में जोरदार वापसी करेंगे। ज्योतिषी इंद्रजीत साहनी ने जहां एक तरफ कहा है कि कांग्रेस अध्यक्ष के रूप में राहुल गांधी की पारी लंबी चलेगी। वहीं पर दूसरी ओर ज्योतिषी संजय चौधरी ने कहा है कि राहुल आने वाले समय में जनता के निकट जाएंगे।

संजय चौधरी ने कहा कि राहुल ने जिस दिन अध्यक्ष के रूप में शपथ ली, उस दिन शनिवार था तथा कुंभ लगन था, जिसका स्वामी पुन: शनि था। शनि उनकी कुंडली में लाभ वाले स्थान 11वें घर में बैठा हुआ है, जोकि एक अच्छा संकेत है। 9वें तथा 10वें घर का स्वामी शुक्र तथा मंगल है, तथा उन्होंने राशि परिवर्तन किया हुआ है, जिससे एक मजबूत राजयोग बनता है। इस राजयोग से यह भी प्रदॢशत होता है कि पार्टी में राहुल गांधी की विरोधता नाममात्र होगी। चौधरी ने कहा कि राहुल की शपथ कुंडली में राहु छठे घर में बैठा हुआ है जबकि छठे घर का स्वामी चंद्रमा 10वें घर में नीच राशि में बैठा हुआ है, इससे पता चलता है कि कांग्रेस की विरोधी पाॢटयों द्वारा उन्हें नुक्सान पहुंचाने की साजिशें रची जाएंगी परन्तु उसमें वह सफल नहीं होंगे। इसका एक अर्थ यह भी है कि राहुल के कुछ निकटवर्तियों को निशाना बनाकर कांग्रेस की विरोधी पाॢटयां राहुल को कमजोर करने की चेष्टा करेंगी, परन्तु इसमें भी उनकी साजिशों को सफलता नहीं मिलेगी। चौधरी ने कहा कि शपथ कुंडली की आयु लंबी है तथा राहुल गांधी को सबसे पुरानी पार्टी कांग्रेस को उभारने के लिए सख्त मेहनत करनी होगी। राहुल को अपने निकटवर्तियों का सावधान रहना होगा।

2019 से सुधार की लहर शुरू होगी
दूसरी तरफ ज्योतिषी इंद्रजीत साहनी ने कहा है कि 2019 से कांग्रेस में सुधार की लहर शुरू हो जाएगी। नवम्बर 2019 से अगले 10 महीने कांग्रेस के लिए काफी महत्वपूर्ण रहेंगे। उन्होंने कहा कि भाजपा सरकार राहुल को जितना दबाने की कोशिश करेगी, उतना ही वह मजबूत होकर उभरेंगे। राहुल को इस समय शनि महादशा में शुक्र की अन्तर्दशा चल रही है जोकि 13 फरवरी 2021 तक चलेगी। शनि अभी अस्त है जिस कारण राहुल पर दबाव बना हुआ है। उन्होंने कहा कि राहुल के अध्यक्ष बनने से युवा शक्ति उनके साथ जुड़ेगी। शनि जब गोचर में कुंभ राशि में आएगा तो राहुल व कांग्रेस के लिए सर्वश्रेष्ठ समय रहेगा। 2022-23 से कांग्रेस का एक बढिय़ा समय शुरू होने जा रहा है, जोकि 2030 तक चलेगा, इस दौरान कांग्रेस की देश के कई राज्यों में सरकारें स्थापित हो जाएंगी।

ज्योतिषी की सलाह से राहुल का शपथ समय तय हुआ
कांग्रेस अध्यक्ष के रूप में चार्ज व शपथ लेने का समय ज्योतिषियों की सलाह से तय किया गया। कांग्रेसी हलकों में कहा जा रहा है कि राहुल द्वारा शपथ लेने से पहले गांधी परिवार ने देश के प्रमुख ज्योतिषियों से सलाह मशविरा किया, जिसके बाद उनके चार्ज संभालने का समय 16 दिसम्बर को सुबह 11.07 बजे तय किया गया।