दतिया: शहीद का पार्थिव शरीर पहुंचा रेव गांव, सैन्य सम्मान के साथ होगी अंत्येष्‍ट‍ि

दतिया। कश्मीर के कुपवाड़ा में पाकिस्तानी आतंकवादियों से आमने सामने की मुठभेड़ में शहीद हुए दतिया के जवान रंजीत सिंह तोमर का पार्थिव शरीर उनके गांव रेव पहुंचा। सैन्य सम्मान के साथ अंत्येष्टि सोमवार सुबह 9 बजे होगी। शहीद के घर लोगों के पहुंचने का सिलसिला जारी है। सेना के अधिकारी भी शहीद के गांव पहुंच गए हैं।

रंजीत के पिता प्रताप सिंह तोमर ने बताया कि रंजीत तीन भाइयों में दूसरे नबंर का था। उसकी बचपन से ही सेना में भर्ती होकर देश की सेवा करने की इच्छा थी। 6 साल पहले जब शिवपुरी में सेना की भर्ती रैली आयोजित हुई तो वह पहले ही प्रयास में सेन्य सेवा के लिए चुन लिया गया।

5 साल का सैन्य प्रशिक्षण कश्मीर में पूरा करने के बाद 4 माह पहले ही रंजीत को झांसी में पदस्थ किया गया था। अभी एक महीने पहले रंजीत परिवार में शादी में शामिल होने गांव आया था तब उसने फिर से कश्मीर में पदस्थी के लिए अपनी रंजीमेंट में आवेदन दिया था जिसके बाद उन्हें फिर से कश्मीर के कुपवाड़ा में पाक की सीमा की चौकी पर तैनात किया गया।

पिता को बेटे की शहादत पर गर्व

रंजीत के पिता पेशे से किसान है।रंजीत की शहादत की खबर से पूरे परिवार में मातम है, मां व परिवार की अन्य महिलाओं का रो-रोकर बुरा हाल है, जबकि पिता को दुख के साथ बेटे की शहादत पर फक्र है।

सोशल मीडिया पर लोगों ने किया शहादत को सलाम

जिले के सैनिक रंजीत सिंह की शहादत की खबर सोशल मीडिया पर जारी होने के बाद बड़ी संख्या में लोगों ने अपनी प्रतिक्रियाएं व्यक्त की तथा शहीद रंजीत की शहादत को नमन किया।