‘गोरखपुर-फूलपुर सीट भारी मतों से जीतेगी बीजेपी, गठबंधन कर सपा-बसपा ने स्वीकारी हार’

नई दिल्‍ली। चुनाव प्रचार के आखिरी दिन गुरुवार को गोरखपुर पहुंचे मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि उन्हें पूरा भरोसा है कि गोरखपुर और फूलपुर उपचुनाव में बीजेपी भारी मतों से जीत दर्ज करेगी. मुख्यमंत्री ने बसपा-सपा की दोस्ती पर निशाना साधते हुए कहा कि हार की डर से यह गठबंधन हुआ है. यह बेमेल गठबंधन महज एक सौदेबाजी है.

दरअसल उपचुनाव में प्रचार के आखिरी दिन मुख्यमंत्री ने गोरखपुर में चार चुनावी जनसभाओं को संबोधित किया और पार्टी प्रत्याशी उपेन्द्र दत्त शुक्ला के लिए वोट मांगा. राम चौरा में जनसभा को संबोधित करते हुए सीएम योगी ने कहा, “गोरखपुर और फूलपुर लोकसभा उपचुनाव में भारी मतों से हमारे प्रत्याशी जीतेंगे. बसपा और सपा का गठबंधन दिखाता है कि उन्होंने हार स्वीकार कर ली है. यह गठबंधन सौदेबाजी है, इससे प्रदेश का कोई लेना देना नहीं है. जनता इसे एक सिरे से खारिज करेगी और बीजेपी दोनों सीटों पर भारी मतों से जीतेगी.”

सीएम योगी ने कहा, “यहां की जनता ने मुझे पांच बार सांसद बनाकर भेजा. अब गोरखपुर में विकास तेजी से हो रहा है. गोरखपुर में जब खाद कारखाना चलेगा तो यहां के नौजवानों को रोजगार मिलेगा और किसानों को खाद बीज भी भरपूर मिलेंगे. सपा-बसपा 11 वर्षों में गरीबों को आवास नहीं दे सकी. बीजेपी सरकार ने 11 महीनों में आवास उपलब्ध कराने का काम किया. सपा सरकार मैं अवैध खनन और पेड़ कटवाने से उन्हें फुर्सत नहीं थी. हमारी सरकार ने उन अवैध कामों पर रोक लगाया. अब तक 42,000 पुलिस की भर्तियां कर चुके हैं. एक लाख भर्तियां और आने वाली हैं. वनटांगिया को राजस्व गांव के साथ बिजली समेत अन्य सुविधाएं भी उपलब्ध कराई गई.”

गौरतलब है कि मुख्यमंत्री के इस्तीफे के बाद गोरखपुर लोकसभा सीट पर 11 मार्च को मतदान होना है. इसके लिए आज शाम पांच बजे चुनाव प्रचार थम जाएगा. सपा ने यहां से निषाद पार्टी के इंजीनियर प्रवीण निषाद को पार्टी टिकट से मैदान में उतारा है. उन्हें मोहम्मद अयूब की पीस पार्टी का भी समर्थन हासिल है. कांग्रेस की तरफ से सुरहिता करीम मैदान में हैं. गोरखपुर और फूलपुर लोकसभा सीट के लिए होने वाले उपचुनाव का परिणाम 14 मार्च को आएगा.