शिवसेना न सरकार गिरायेगी और न नया विकल्प तलाशेगी, बस 2019 में अकेले लड़ेगी

राजनीतिक डेस्क। शिवसेना के वरिष्ठ नेता संजय राउत ने कहा है कि 2019 के चुनाव में उनकी पार्टी सभी सीटों पर अकेले लड़ेगी. यह बात उन्होंने शुक्रवार को मुंबई में आयोजित एक निजी टीवी चैनल के कार्यक्रम में कही। राउत ने स्पष्ट किया कि दोस्ती शिवसेना ने नहीं तोड़ी. हम तो एलायंस में रहना चाहते थे।

राउत ने कहा कि शिवसेना चीफ उद्धव ठाकरे ने 26 जनवरी 2016 को कहा था कि आने वाले सब चुनाव हम स्वतंत्र होकर लड़ेंगे. ये आज की बात नहीं है. हमने 2019 की बात की थी. लेकिन हमने ये नहीं कहा था कि सरकार को गिराएंगे या कोई और विकल्प खोजेंगे. हमने सोचा है कि हमें भी शत प्रतिशत शिवसेना का नारा देना है तो इसमें गलत क्या है. हमारी पार्टी का विस्तार करने का हमें पूरा अधिकार है. पूरे महाराष्ट्र में सभी सीटों पर लड़ने का प्रस्ताव पार्टी की राष्ट्रीय कार्यकारिणी में पास हुआ है. बीजेपी के साथ कोई दुश्मनी नहीं है और होनी भी नहीं चाहिए. हर पार्टी को अपनी-अपनी विचारधारा लेकर आगे जाने का हक है।

कांग्रेस और शरद पंवार का बेस रहा है और रहेगा
रावत ने कहा कि हमारी पार्टी भी काडर बेस पार्टी है. लोगों का मूड क्या है हमें भी मालूम है. 50 साल से हम इस राज्य में काम कर रहे हैं. लेकिन एक बात मैं हमेशा मानता हूं कि इस राज्य में हमेशा, चाहे देश में न रहा हो कांग्रेस का बेस रहा है और रहेगा, शरद पवार का बेस रहा है और रहेगा, बीजेपी का भी जो हिस्सा है वह रहेगा और शिवसेना भी है. लेकिन देखिएगा 2019 का निर्णय चौंकाने वाला होगा.

2014 जैसी मोदी लहर अब नहीं

चौपाल के मंच पर राउत बोले कि 2019 में कांग्रेस को 120 से 130 सीटें मिलने की संभावना है. जो देश की स्थिति है, जो हवा मैं देख रहा हूं उसके मुताबिक बीजेपी की 60-70 सीटें कम हो जाएंगी. 2014 में एक लहर थी, जो पंचायत के चुनाव नहीं जीत पाए वह सांसद बन गए, लेकिन अब ऐसी स्थिति नहीं है.