बरेला में बेकाबू ट्रक चाय की दुकान और घर में घुस, 10 की मौत

जबलपुर। शहर के नजदीक बरेला के आगे शारदा मंदिर रिछाई के समीप आज सुबह एक बेकाबू ट्रक चाय की दुकान और घर में घुस गया। हादसे में 8 से 10 लोगों की मौत हो गई और 6 लोग घायल हो गए। अपुष्ट सूत्र मृतकों की संख्या 10 बता रहे हैं। घायलों को इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया है। हादसे में कुछ स्कूली बच्चे भी चपेत में आए हैं।

गुस्साए ग्रामीणों ने पुलिस पर किया पथराव,वाहन फूंका

हादसे के बाद गुस्से में गांव बालों ने पथराव शुरू कर दिया और पुलिस के एक वाहन में आग लगा दी। बताया जा रहा है कि ट्रक बहुत ही तेज रफ्तार में था। तभी ड्राइवर संतुलन खो बैठा और ट्रक सीधे सड़क किनारे बनी चाय की दुकान में जा घुसाए जिससे वहां बैठे आठ लोगों की मौके पर ही मौत हो गई। जिसने भी ये मंजर देखा वो सहम गया। तुरंत घटना की जानकारी पुलिस और एंबुलेंस को दी गई। इसके बाद पुलिस मौके पर पहुंची और घायलों को अस्पताल पहुंचाया गया। कुछ शव ट्रक के अंदर ही दबे हुए थे। जिन्हें निकाला जा रहा है। घटना की जानकारी लगने के बाद ग्रामीणों में आक्रोश है। उन्होंने हाईवे पर जाम लगा दिया है। फिर पुलिस पर पथराव करने लगे।

इसी बीच एक पुलिस अधिकारी के वाहन को आग के हवाले कर दिया गया है। मौके पर कलेक्टर महेश चन्द्र चौधरी , एसपी शशिकांत शुक्ला समेत शहर के पुलिस अधिकारी व भारी पुलिस बल पहुंच गया है। प्राप्त जानकारी के अनुसार एक 10 चका ट्रक मंडला से जबलपुर की ओर चला आ रहा था। तभी वह बरेला के पास खड़ी बस से टकरा गया और बेकाबू होकर एक चाय की दुकान व एक घर में जा घुसा है। जहां सो रहे एक ही परिवार के 8 से 10 लोग उसकी चपेट में आ गए।

सूत्रों के अनुसार सभी की मौत मौके पर ही हो गई है। इनमें बच्चे भी शामिल हैं। वहीं कुछ और लोग घर के भीतर दबे होने की बात भी कही जा रही है। एक्सीडेंट की खबर जैसे ही गांव में फैली लोग भारी संख्या में मौके पर एकत्रित हो गए हैं। लोगों ने शवों को निकालने का प्रयास किया है। वहीं पुलिस व प्रशासन के खिलाफ लोगों का गुस्सा भड़क गया है। जिसके बाद उन्होंने जाम लगा दिया है।

गुस्साए भीड़ ने पुलिस वालों से मारपीट की । ग्रामीणों के गुस्से को देखते हुए तत्काल मौके पर भारी पुलिस बल तैनात कर दिया गया है। एएसपी ग्रामीण संजय साहू के अनुसार राहगीरों को किसी प्रकार की परेशानी न हो और कानून व्यवस्था भी बनी रहे इसके लिए उचित व्यवस्था की जा रही है। घायलों को अस्पताल पहुंचाने के लिए एम्बुलेंस भेजी गई हैं। प्राथमिक उपचार के लिए बरेला अस्पताल व गंभीर मरीजों को जबलपुर के अस्पतालों में ले जाया जा रहा है। हादसे को देखते हुए यातायात व्यवस्था भी परिवर्तित की जा रही है।