BJP मंत्री ने धमकाया, ‘कांग्रेस को चुना तो न मकान मिलेगा न चूल्हा’

कोलारस। मध्य प्रदेश में बीजेपी सरकार की मंत्री यशोधरा राजे सिंधिया उपचुनाव में वोटरों को धमकी दे रही हैं कि कमल को वोट दो नहीं तो राज्य सरकार इलाके में विकास के काम नहीं करेगी. अगर कांग्रेस का विधायक चुना तो न मकान मिलेगा न चूल्हा देंगे. यशोधरा ने कहा कि अगर कांग्रेस को वोट दिया तो शिवराज मंत्रिमंडल क्षेत्र के काम नहीं करेगा.

शिवपुरी के कोलारस उपचुनाव में प्रचार के लिए पडोरा गांव पहुंची खेल मंत्री यशोधरा राजे सिंधिया ने मंच से कहा कि हमारी सरकार है हमारा विधायक नहीं बनाओगे तो न ही पानी मिलेगा न ही पिछड़ापन दूर होगा. बता दें कि कोलारस में पानी का गहरा संकट है.

कोलारस विधानसभा उपचुनाव को कांग्रेस सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया ने अपनी प्रतिष्ठा का सवाल बना लिया है. बीजेपी की तरफ से ज्योतिरादित्य की बुआ यशोधरा राजे सिंधिया मोर्चा खोले हुये हैं. 24 तारीख को मतदान होना है.

पानी तब आयेगा जब आप पंजे को वोट नहीं दोगे. दो बार आपने पंजे को वोट दे दिया. अब कितनी बार औऱ दोगे औऱ पानी के बिना रहोगे. समझ रहे हो ना. समझने की बात है. आज सूची बनती है आपका नाम लिस्ट में नहीं. हमारा विधायक सूची बनायेगा. आपका नाम डालेगा. आपकी समस्यायें वो हम मंत्री लोगों के साथ बैठकर सुलझायेगा. पर ये सब हो सकता है जब आप विधायक बनाओगे. क्योंकि आपका ही पिछड़ापन रहेगा. हमारी तो सरकार है. आपके यहाँ से विधायक 24 तारीख को नहीं बनाओगे तो पिछड़ापन तो रहेगा. अगर आपने काँग्रेस को वोट दिया तो मैं तो बात नहीं करने वाली औऱ मैं तो मंत्री हूँ. मेरी मंत्रिमंडल उनके काम नहीं करेगी.

— यशोधरा राजे सिंधिया, कोलारस में प्रचार के दौरान

यशोधरा ने यह भी कहा कि, हम सिर्फ आपको बता रहे है कि ऐसी योजनायें हैं चूल्हे की योजना क्यों नहीं आई आपके पास. बीजेपी कमल की योजना है आप पंजे को वोट देंगे आपके पास आयेगी ही नहीं. आप कमल को दोगे तो आपके पास आयेगी. सीधी बात है. आप अगर पंजे को वोट दोगे तो हम पंजे को क्यों देंगे हमारे मकान. हम पंजे को क्यों देंगे चूल्हा. आपको अपनी समझदारी से ऐसी सरकार के लिये वोट करना है जिसकी हर चीज़ आपके घरों में आ जाए.

सवाल ये है कि मंत्री यशोधरा राजे सिंधिया के चुनाव प्रचार के दौरान दिये गये ये बयान आदर्श आचार संहिता का उल्लंघन है या नहीं. निर्वाचन आयोग का कहना है कि शिकायत मिली तो उचित कार्रवाई की जायेगी.

संयुक्त मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी एस एस बंसल ने वीडियो पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि, ऐसी कोई शिकायत अभी नहीं मिली है. मॉडल कोड का ये उल्लंघन है कि अगर आप बोलते हो कि हमें वोट नही दिया तो पानी रोक दिया जायेगा. सड़क नहीं बनेगी. शिकायत मिलती है तो आयोग निश्चित रूप से कार्रवाई करता है.