MPPSC-2017 : जबलपुर की संंपदा सर्राफ बनी टॉपर, बेटियां टॉप 5 में 4

इंदौर। मप्र लोकसेवा आयोग (पीएससी) ने राज्यसेवा परीक्षा-2017 का फाइनल रिजल्ट शनिवार शाम जारी कर दिया। जबलपुर की संपदा सर्राफ कुल 1575 में से 1000 अंक हासिल कर टॉपर बनीं। चयन सूची के टॉप फाइव में 4 लड़कियां शामिल हैं। इनका चयन डिप्टी कलेक्टर पद के लिए हुआ है। 6 दिसंबर को ही राज्यसेवा में इंटव्यू का अंतिम दौर पूरा हुआ था।

राज्यसेवा में टॉपर बनी संपदा बीते वर्ष आयोजित राज्यसेवा 2016 में 9वें स्थान पर रहीं थी। उस दौरान उन्हें डीएसपी का पद मिला था। जबलपुर से इंजीनियरिंग करने वाली संपदा ने इस साल आठ स्थानों की छलांग लगाते हुए राज्यसेवा में सर्वोच्च डिप्टी कलेक्टर का पद भी हासिल कर लिया है।

पीएससी द्वारा जारी सिलेक्शन लिस्ट में दूसरे स्थान पर शिवांगी अग्रवाल और तीसरे स्थान पर जूही गुप्ता है। दोनों के ही कुल प्राप्तांक समान 989 है। हालांकि लिखित परीक्षा में शिवांगी को जूही से 11 अंक ज्यादा मिलने पर दूसरे स्थान स्थान पर रखा गया है। चौथे स्थान पर रही प्रिया वर्मा को 984 जबकी पांचवे स्थान पर रहे अंशुल खरे को 983 अंक मिले हैं। चयन सूची के पहले 10 नामों में भी 6 लड़कियां हैं। राज्यसेवा-2017 में कुल 517 पद थे। इनमें से डिप्टी कलेक्टर के 27 जबकी डीएसपी के 45 पद थे। सबसे ज्यादा 315 पद नायब तहसीलदार के थे। विज्ञापन की घोषणा के बाद तीन बार नायब तहसीलदार के पदों की संख्या बढ़ाई गई थी।

सुधरा पीएससी का रिकॉर्ड

राज्यसेवा-2017 के अंतिम नतीजे के साथ ही पीएससी ने अपना रिकॉर्ड भी सुधार लिया है। यह पहला वर्ष है जब पीएससी ने जिस वर्ष की परीक्षा प्रक्रिया शुरू की उसी साल उसे पूरा कर चयन सूची भी जारी कर दी। पीएससी के पूर्व सचिव मनोहर दुबे ने बीते साल ही पीएससी में परीक्षा कार्यक्रम का एडवांस शेड्यूल घोषित करने की परंपरा शुरू की थी। इसे उसी का नतीजा माना जा रहा है।

पीएससी के टॉप टेन

संपदा सर्राफ

शिवांगी अग्रवाल

जूही गुप्ता

प्रिया वर्मा

अंशुल खरे

प्रिया चंद्रावत

गगन बिसेन

घनश्याम धनगर

अमन मिश्रा

आयुषी जैन