मंडी परिसर की सुविधा में होगा इजाफा, जल्द बनेगी थोक फल सब्जी मंडी

 

शाजापुर। एबी रोड स्थित कृषि उपज मंडी परिसर में आने वाले किसानों को अनाज के साथ ही फल व सब्जियां भी विक्रय करने की सुविधा मिलने वाली है। जी हां, लंबे समय से प्रतीक्षारत फल-सब्जी मंडी के लिए टेंडर की प्रकिया हो रही है। इसी सत्र से काम शुरू होने की उम्मीद जताई जा रही है। इसकी लागत करीब 7 करोड़ रुपए बताई जा रही है।

शहर में फिलहाल हाट मैदान पर सब्जियों की खरीदारी होती है। वहीं थोक फल सब्जी मंडी टंकी चौराहा पर क्षेत्र के कई गांव के किसान आलू, प्याज, लहसुन का विक्रय करने आते हैं लेकिन जब एबी रोड स्थित अनाज मंडी पर बड़े परिसर में सर्वसुविधा युक्त थोक फल सब्जी मंडी बन जाएगी, तब किसानों को एक ही जगह अनाज से लेकर फल व सब्जी बेचने के सुविधा मिल जाएगी।

आधुनिक थोक फल सब्जी मंडी का निर्माण करीब 10 बीघा क्षेत्र में होगा। इसका प्रवेश द्वार बमोरी मार्ग के समीप से होकर रहेगा। पार्किंग की बेहतर व्यवस्था रहेगी। बाउंड्रीवॉल, सीसीटीवी कैमरे आदि की भी व्यवस्था रहेगी। यहां पक्का परिसर तो आधुनिक मल्टीयुटिलिटी शेड भी रहेगा। वहीं परिसर में इंरटनेट की भी व्यवस्था रहेगी। परिसर को वाई-फाई करने की भी कवायद होगी। इससे फल व सब्जियों के दाम भी ऑनलाइन पता चल सकेंगे। दरअसल, मंडी में 100 से ज्यादा गांव के किसान शाजापुर में अपनी फसल विक्रय करने आते हैं। टंकी चौराहा स्थित मंडी व हाट मैदान स्थित मंडी में सीजन के समय कई बार पार्किंग को लेकर समस्या आ जाती है। वहीं साल दर साल फसल विक्रय करने आने वाले किसानों की संख्या भी बढ़ रही है। इस मान से आधुनिक फल सब्जी मंडी के बड़े स्वरूप को लेकर मांग भी की जा रही है। इस तरह विस्तृत क्षेत्र में बनने वाले थोक फल सब्जी मंडी से किसानों को सुविधा होगी। उल्लेखनीय है कि आधुनिक थोक फल सब्जी मंडी के लिए जो टेंडर की प्रक्रिया हुई है, वह एक बार पहले हो चुकी थी लेकिन जीएसटी व्यवस्था लागू होने के बाद यह निरस्त कर दी गई थी।

जगह का हुआ समतलीकरण

मंडी परिसर में प्रवेश द्वार के पहले ऊबड़-खाबड़ पड़ी जमीन के सौंदर्यीकरण को लेकर कवायद शुरू हो गई है। पिछले दिनों हुई प्रशासन, व्यापारी व मंडी स्टाफ की बैठक में इस भूमि के सौंदर्यीकरण को लेकर मुद्दा उठा था। इसके बाद मंडी प्रशासन द्वारा जगह का समतलीकरण कराकर यहां बागीचा बनाने के लिए काम लगाया है।

साढ़े 7 करोड़ रुपए होगी लागत

– कृषि उपज मंडी परिसर में किसानों की सुविधा के लिए आधुनिक फल-सब्जी मंडी बनाई जाने वाली है। इसके लिए टेंडर की प्रक्रिया हुई है। इसकी लागत करीब करीब साढ़े सात करोड़ रुपए रहेगी। -रमेश पाटीदार, मंडी अध्यक्ष प्रतिनिधि