राज्यसभा के लिए भिड़ गए आप नेता, बुलाना पड़ी पुलिस

नई दिल्लीः आम आदमी पार्टी के लिए अगले महीने होने वाले राज्यसभा चुनाव गले की फांस बनते जा रहे हैं। पार्टी के संस्थापक सदस्यों में एक कुमार विश्वास को राज्यसभा भेजने की मांग को लेकर गुरुवार शाम पार्टी कार्यालय में जमा हो गए। इस दौरान उन्होंने अपने नेता को राज्यसभा का उम्मीदवार बनाने को लेकर खूब हंगामा किया।एेसे पार्टी नेताओं को उन्हें खदेड़ने के लिए पुलिस बुलानी पड़ी।

कुमार विश्वास के समर्थक अलग-अलग शहरों से दिल्ली स्थित कार्यालय में बसों और ट्रेन से पहुंचे हैं। मिली जानकारी के मुताबिक इन समर्थकों की योजना अगले 3-4 दिन तक पार्टी कार्यालय में धरने पर बैठने की है। उन्होंने गद्दे, रजाइयों और टेंट की व्यवस्था भी कर ली है।

नाम घोषित करने को लेकर पार्टी में अंदर कलह 
आम आदमी पार्टी के हिस्से में राज्यसभा की तीन सीटें हैं। इसकी उम्मीदवारी के लिए नामांकन करने की समय सीमा पांच जनवरी को समाप्त हो रही है लेकिन उम्मीदवारों के नाम घोषित करने को लेकर पार्टी के अंदर कलह जारी है। कुमार विश्वास इस दौड़ में खुद को सबसे आगे मान रहे थे लेकिन अब तक पार्टी ने उन्हें कोई आश्वासन नहीं दिया है। जानकारों का कहना है कि कुछ महीने से केजरीवाल और कुमार में तल्खी जारी है इसलिए कुमार को यह आशंका है कि कहीं यह मौका उनके हाथ से चला न जाए।

विश्वास राज्यसभा जाने की जता चुके इच्छा 
विश्वास कई बार राज्यसभा जाने की इच्छा जाहिर कर चुके हैं। इस दौड़ में शामिल अन्य नेताओं में आशुतोष और संजय सिंह का नाम सामने आ रहा है। इसी बीच, कुमार विश्वास को अजमेर की लोकसभा सीट पर होने वाले उपचुनाव में पार्टी उम्मीदवार बनाने की मांग भी उठाई जा रही है। हालांकि, इस मामले पर कुमार विश्वास ने कोई प्रतिक्रिया नहीं दी है।

पहले विशेषज्ञों को भेजने का बनाया था मन
दिल्ली विधानसभा चुनावों में भारी बहुमत से जीतने के बाद से ही स्थिति स्पष्ट हो गया थी कि आम आदमी पार्टी तीन उम्मीदवारों को राज्यसभा में भेज सकती है। बीच में खबरें आई थीं कि आम आदमी पार्टी अपने नेताओं के बजाए अन्य क्षेत्रों के विशेषज्ञों को राज्यसभा में भेज सकती है लेकिन पूर्व आरबीआई गवर्नर रघुराम राजन ने ऐसा प्रस्ताव ठुकरा दिया था। वहीं, आम आदमी पार्टी का कहा है कि पीएसी की बैठक में राज्यसभा उम्मीदवारों के नामों पर चर्चा की जाएगी। 3 से 4 जनवरी को यह बैठक होनी है।